History of ram mandir ayodhya

history of ram mandir


History of ram mandir ayodhya



 अयोध्या एक ऐसा शहर जिसे पूरी दुनिया जानती है क्योकि यहाँ मर्यादा पुरोषत्तम श्री राम का जन्म हुआ था। श्री राम एक ऐसे व्यक्ति थे जिन्होने पूरे विश्व को एक ऐसा सन्देश दिया ,जिस रस्ते पे चलकर कोई भी अपने सफलता को प्रटप कर सकता है।   अयोध्या में चारो ओर सिर्फ मंदिर ही मंदिर है लेकिन जिस स्थान पर श्री राम का जन्म हुआ था वह पर श्री राम जी की मूर्ति तम्बू  के निचे है।

History of ram mandir ayodhya



हिंदुस्तान में जब से मुग़ल यहाँ आये उसी समय से हिंदुस्तान की संस्कृति का खंडन सुरु हो गया , मुग़ल यहाँ लूटपाट लिए आये थे ,लेकिन वो जब आये तो हिंदुस्तान उन्हें बहुत अच्छा  और वो यहाँ रहने की इच्छा  करने लगे और धीरे धीरे मुग़ल यहाँ अपना साम्राज्य बनाने लगे , यहाँ के छोटे छोटे राजाओ को  लेकर राज करना सुरु कर दिए।  समय बीतता  और हिन्दू राजा कमजोर पड़ने लगे और मुग़ल बलशाली हो गए कुछ हिन्दू राजाओ ने इसका विरोध किया लेकिन वो सफल  नहीं हुई। हिंदुस्तान में मुगलो का राज हो गया।  इन्ही मुगलो में से एक शासक  था बाबर  जिसने  हिंदुस्तान की लाखो मंदिरो को तोड़वा दिया लाखो लोगो को मरवा दिया  और इसी बाबर ने अयोध्या में श्री राम की मंदिर भी तोड़वा दी , मंदिर का विरोध करने वाले हाजाओ साधु संतो  को भी मरवा दिया।
 बाबर के  बाद  यहाँ पर बहुत सरे मुगलो  किया और  हिन्दुओ के संस्कृति को ख़त्म  कोसिस की।  मुगलो के बाद अग्रेजो  का शासन आया और ये भी २५० वर्ष राज किये हिंदुस्तान के आजाद  बाद यहाँ की संस्कृति का पुनरोउधार का कार्य सुरु हुआ।


 अग्रेजो  के समय से ही  राम मंदिर को फिर से बनाने  प्रयास किये जाने लगे लेकिन यहाँ के कुछ  मुसलमानो  ने इसका विरोध किया और राम मंदिर बनाने नहीं दिया ,देश के आजादी के बाद  6 दिसंबर 1992 को कुछ हिन्दू समुदायों ने मिलकर बाबरी मस्जिद को तोड़ दिया ,और यहाँ श्री राम की मूर्ति स्थापित कर दी लेकिन मंदिर नहीं  क्योकि मुस्लिमो मुस्लिमो ने इसपर मुकदमा  कर दिया। यह  मुकदमा सैकड़ो साल  चला और इसपर फैसला २०१९ में आया ,सुप्रीम  कोर्ट  के द्वारा बिबादित जमीन  को राम मंदिर के लिए दे दिया गया 

AYODHYA RAM MANDIR

आजादी के बाद भी राम मंदिर के लिए गयी थी हजारो हिन्दुओ की जान 


आजादी के बाद श्री राम मंदिर को बनाने के प्रयास तेजी से होने लगे लेकिन उस जमीन पर मस्जिद होने के नाते सरकारे भी इस कार्य को करने सें इंकार कर दी , इसके पश्चात कुछ हिन्दू संगठनों ने कानून को अपने हाथ  लेकर मस्जिद को तोड़ने का कार्य प्रारम्भ की और उसी समय मुलायम सिंह उत्तेर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे और उन्होने मस्जिद तोड़ने वालो के उप्पर गोली चलने का आदेश दे दिया , गोली चलने के लिए विदेश  से  पुलिस बुलाये गए थे , इसी में हाजाओ हिन्दुओ की जान चली गयी और पूरे भारत में हिन्दू और मुस्लिमो के बीच लड़ाई ज़रूर हो गयी इस लड़ाई में हजारो लाखो लोगो के जान चली गयी। और उसी समय से हिन्दू संघटन देश के राजनीती में आ गए और लगातार मंदिर के प्रयाश में लगे रहे और अंतत मास्जिद को तोड़कर वह पर श्री राम जी मूर्ति रख दी और श्री राम के दर्शन के लिए वहा देश विदेश से लोग आने लगे।  अब अयोध्या का विवाद समाप्त हो गया है  और सुप्रीम कोर्ट के द्वारा श्री राम मंदिर को बनाने का आदेश दे दिया गया है।
अयोध्या में बनाने वाला श्री राम मंदिर पूरी दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर होगा। 

history of ram mandir, राम मंदिर अयोध्या हिस्ट्री,अयोध्या राम मंदिर विवाद क्या है, अयोध्या राम मंदिर किसने बनवाया था, राम जन्मभूमि का इतिहास, राम मंदिर ,इशूराम मंदिर का ताला किसने खुलवाया, राम जन्मभूमि फोटो, श्री राम जन्मभूमि अयोध्या.



Post a Comment

1 Comments

please do no enter any spam kink